गुरुवार, 24 जुलाई 2008

अमरूद और हरी पत्तियां

अमरूद और हरी पत्तियां
कहानी: अमरूद और हरी पत्तियां
लेखक: मेराज अहमद
स्वर: मेराज अहमद
प्रस्तुत कहानी सम्बंधों के बीच उन लम्हों के पहचान की है, को जो ज़िंदगी की सहजता कई धुरी होते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

आपकी टिप्पणियों का स्वागत है!