बुधवार, 13 अगस्त 2008

सारे जहां से अच्छा, हिन्दोस्तां हमारा हमारा,…(लता जी की आवाज़ में सुनें)

लता
सारे जहां से अच्छा, हिन्दोस्तां हमारा हमारा,…
हम बुलबुलें हैं उसकी, ये गुलसितां हमारा……

गायक: लता मंगेश्कर
शायर: सर अल्लामा इक़बाल

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

आपकी टिप्पणियों का स्वागत है!