गुरुवार, 25 सितंबर 2008

तू कहीं भी रहे सर पर तेरे इलज़ाम तो है…(ग़ुलाम अली की आवाज़)

ग़ुलाम
तू कहीं भी रहे सर पर तेरे इलज़ाम तो है
तेरे हाथों की लकीरों पर मेरा नाम तो है

गायक:ग़ुलाम अली

2 टिप्‍पणियां:

आपकी टिप्पणियों का स्वागत है!