शनिवार, 14 मार्च 2009

हम तुम्हें चाहते है ऐसे…फ़िल्म:क़ुरबानी

नसीब इंसान का चाहत से ही संवरता है
क्या बुरा इसमें किसी पर जो कोई मरता है

फ़िल्म:क़ुरबानी

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

आपकी टिप्पणियों का स्वागत है!